Monday, 10 November 2014

मैं कौन....

कुछ ना
कुछ भी ना
खोजूँ मैं

ना मोक्ष
ना शंका

ना पूर्ण
ना अपूर्ण

ना गुरु
ना ज्ञान

ना दोस्त 
ना दुश्मन

ना अस्तित्व
ना समाप्ती

ना प्यार 
ना धोखा

ना रिक्त 
ना भराव

ना जीवन 
ना मृत्यु

ना आरंभ
ना अंत

ना शुन्य 
ना अनंत

ना नभ
ना तारे

ना धरती 
ना आसमान

क्यों कि मैं.." मैं " हूँ

                                          ....इंतज़ार