Tuesday, 4 August 2015

उपजाऊ धरती ........


धरती में सोये
बीज फूट आते हैं
पौधे बन जाते हैं
सिर्फ़ धरती नहीं
मेघ सूर्य ॠतु वायु
और सम्पूर्ण प्रकृति
हर कोई मिल के उगाते हैं
क्यों फिर उपजाऊ
सिर्फ़ धरती को बताते हैं !!

                                       मोहन सेठी 'इंतज़ार'