Wednesday, 27 January 2016

तेरे मुस्कुराने भर की देर है..............

Silyuk Konstantin. Portrait of Indian girl

सपनों में मेरे तुम आने लगोगी

बस तेरे मुस्कुराने भर की देर है


चोरी हो जायेगा ये दिल मेरा


तेरे आँख मिलाने भर की देर है


देख हम तो लुट ही जायेंगे

तेरे शर्माने भर की देर है


महक उठेगी दिल की बगिया


ज़रा पास आने भर की देर है 


ये गीत तो ग़ज़ल बन ही जायेगी


बस तेरे गुनगुनाने भर की देर है !!  


                             ...........इंतज़ार